Friday, 6 June 2014

लाल मेपल फूल - शक्ति और सहनशीलता का प्रतीक

लाल मेपल फूल - शक्ति और सहनशीलता का प्रतीक

लाल मेपल अपने लाल फूल, लाल फल, लाल टहनियों के लिए जाना जाता है । लाल मेपल को दलदल मेपल के रूप में भी जाना जाता है । न्यूयाॅक में दलदलों और नम ढलानों में लाल मेपल आम हैं । अमेरिका के जंगलों में सबसे अधिक संख्या में पेड़ों में से एक लाल मेपल ही है । लाल मेपल का पेड़ एक अंडाकार शामियाने में  ऊपर की ओर पहुंचने वाली शाखाओं के साथ दिखता है । ये शुष्क ढलानों पर प्रचुर मात्रा में पाये जाते हैं । लाल मेपल फूल का पेड़ अमेरिका में पेड़ की सबसे आम किस्म के रूप में पहचाना जाता है । लाल मेपल (एसर रबरम) का पेड़ परिपक्वता पर 50 फुट की ऊंचाई तक हो जाता है । शरद ऋतु में अपने शानदार गहरे लाल रंग के पत्ते के लिए जाना जाता है । लाल मेपल की प्रजातियों में अक्टूबर जय, लाल सूर्यास्त, आर्मस्ट्रांग, शरद ब्लेज, शरद लौ, रेड पांइट, स्कारलेट प्रहरी, छाया किंग, वीजे डेªक आदि हैं । लाल मेपल लकड़ी उद्योग में काफी उपयोगी है जो फर्नीचर और फर्श की तरह मजबूत उत्पादों को बनाने में इस्तेमाल की जाती है । लाल मेपल लकड़ी क्लाथस्पिन,संगीत वाद्य यंत्र और बक्से बनाने के लिए बहुत अनुकूल है । लाल मेपल लकड़ी से ईंधन की लकड़ी के लिए टोकरी और बक्सों का निर्माण, सस्ते फर्नीचर के लिए बड़े पैमाने पर किया जाता है । लाल मेपल से मेपल सिरप जो कि चीनी मेपल, काले मेपल से बनाया जाता है । नरम मेपल की कलियों वसंत ऋतु में आती है तो उनका रंग का स्वाद देखते ही बनता है । मेपल फूल हरे, पीले, नारंगी या लाल रंग के होते हैं । लाल मेपल की औसत उम्र 80-100 साल है । लाल मेपल सिर्फ 4 साल की उम्र में बीज उत्पादन शुरू कर देते हैं । मेपल की कुछ प्रजातियों को बड़े पैमाने पर सजावटी पेड़ के रूप में लगाया जाता है जिसमें नाॅर्वे मेपल, रजत मेपल, जापानी मेपल और लाल मेपल लोकप्रिय हैं । मैपल्स की कला के लिए एक लोकप्रिय पसंद है बोनसाई जिसमें जापानी मेपल, त्रिशूल मेपल, अमूर मेपल, फील्ड मेपल और र्मोटपेलियर मेपल लोकप्रिय हैं । मेपल पर्यअन को बढ़ावा देता है शरद ऋतु में बदलते रंग को देखन का रिवाज है । वाणिज्यिक उपयोग में मेपल सिरप और लकड़ी एक बहुत बड़े स्त्रौत हैं । माना जाता है कि मेपल की लकड़ी टोनवुड है जो ध्वनि तरंगों के उपयोगी है इसलिए इसे वाद्यययंत्र जो कि उज्जवल ध्वनि के लिए उपयोग की जाती है । वायलिन, सेलोस, इलेक्ट्रिक गिटार गर्दन उज्जवल ध्वनि के लिए मेपल की लकड़ी से बनाये जाते हैं । ड्रम बजाने की छड़ों में इसका उपयोग होता है । मेपल का पल्पवुड जो कि अच्छे कागज जो कि अच्छी छपाई गुणों से भरपूर होता है ।















  

No comments:

Post a Comment